Atisanyokti Alankar Kise Kahate Hain – अतिश्योक्ति अलंकार की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Atisanyokti Alankar In Hindi – आज हम इस पेज पर Atisanyokti Alankar के बारे में बात करने वाले हैं। Atisanyokti Alankar विषय के ऊपर यहां पर सभी जानकारी सरल शब्दों में बताई गई है Atisanyokti Alankar Kise Kahate Hain, Atisanyokti Alankar Ke Bhed,  Atisanyokti Alankar Ke Udaharan.

Definition Of Atisanyokti Alankar In Hindi – अतिश्योक्ति अलंकार की परिभाषा

Atisanyokti Alankar एक ऐसा अलंकार है जिसको दूसरों के सामने बढ़ा – चढ़ा कर बोला जाता है उसे Atisanyokti Alankar कहते हैं इस अलंकार के अंतर्गत किसी वस्तु या व्यक्ति के सामने इतना बढ़ा चढ़ा कर बोला जाता है कि वह बात या कार्य संभव नहीं होता, वह मर्यादा को पार कर देती है और उस बात का वर्णन करती है जो करना असंभव होता है ऐसे अलंकार को Atisanyokti Alankar कहा गया है। 

Types Of Atisanyokti Alankar In Hindi – अतिश्योक्ति अलंकार के भेद

  1. रूपकातिशयोक्ति अलंकार
  2. सम्बन्धातिशयोक्ति अलंकार
  3. भेदकातिशयोक्ति अलंकार
  4. चपलातिशयोक्ति अलंकार
  5. अतिक्रमातिशयोक्ति अलंकार
  6. असम्बन्धातिशयोक्ति अलंकार

Examples Of Atisanyokti Alankar In Hindi – अतिश्योक्ति अलंकार के उदाहरण

महाराजा सिंह के घोड़े से पड़ गया हवा का पाला था ।

 पर चेतक की शक्ति को बढ़ा चढ़ा कर कहा गया है।

2. जिस वीरता से दुश्मनो का सामना उसने किया।

असमर्थ हो उसके कथन में मौन वाणी ने लिया ।।

3. बंदर की पूंछ में लगन न पायी आगि।

सगरी लंका जल गई, गये निसाचर भागि।

Conclusion : ऐसी बहुत सी काव्य रचनाएं होती है जहां पर कुछ ऐसी कार्य और बातों को लेकर बात की जाती है जो संभव नहीं होता, वहां पर आप समझ सकते हैं कि Atisanyokti Alankar की बात हो रही है क्योंकि इसमें असंभावना का अभाव उत्पन्न होता है। 

FAQs About Atisanyokti Alankar In Hindi

Q1. अतिश्योक्ति अलंकार क्या होते हैं ?

Ans : जब काव्य रचनाओं में कोई ऐसी बात का वर्णन होता है जो करना असंभव होता है वह अतिश्योक्ति अलंकार कहलाता है। 

Q2. अतिश्योक्ति अलंकार कितने प्रकार के होते हैं ?

Ans :  अतिश्योक्ति अलंकार छ प्रकार के होते हैं :

  • रूपकातिशयोक्ति अलंकार
  • सम्बन्धातिशयोक्ति अलंकार
  • भेदकातिशयोक्ति अलंकार
  • चपलातिशयोक्ति अलंकार
  • अतिक्रमातिशयोक्ति अलंकार
  • असम्बन्धातिशयोक्ति अलंकार

Q3. अतिश्योक्ति अलंकार की पहचान क्या है ?

Ans : जहां कहीं भी असंभावना वाली बात का वर्णन हो, वह अतिश्योक्ति अलंकार की पहचान है। 

Leave a Comment