Tatpurush Samas Kise Kahate Hain – तत्पुरुष समास की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Tatpurush Samas In Hindi – आज हम यहां पर Tatpurush Samas विषय के ऊपर सरल भाषा में जानकारी देने वाले हैं जो छात्र जानना चाहते हैं कि Tatpurush Samas Kise Kahate Hain, Tatpurush Samas के कितने भेद होते हैं वह इस पोस्ट Tatpurush Samas In Hindi को पूरा पढ़ सकते हैं जहां उन्हें Tatpurush Samas के बारे में सभी जानकारी पढ़ने को मिल जाएगी। 

Definition Of Tatpurush Samas In Hindi – तत्पुरुष समासकी परिभाषा

दो शब्द से मिलने वाले और उससे बनने वाले नए शब्द को Tatpurush Samas कहते हैं, जब किसी पद में किस शब्द को कम करना होता है उसके लिए Tatpurush Samas का उपयोग किया जाता है। 

Tatpurush Samas दो शब्दों के बीच वाले संबंध को बताता है सरल शब्दों में हम कह सकते हैं कि समास का वह रूप जिसमें जो उत्तर पद, प्रधान होता है उसे ही Tatpurush Samas कहते हैं। 

Types Of Tatpurush Samas In Hindi – तत्पुरुष समास के भेद 

  1. कर्म तत्पुरुष समास
  2. करण तत्पुरूष समास
  3. सम्प्रदान तत्पुरुष समास
  4. अपादान तत्पुरुष समास
  5. सम्बन्ध तत्पुरूष समास
  6. अधिकरण तत्पुरूष समास

1.कर्म तत्पुरुष समास : समास में वह पद जिसमे दो पदों के बीच कोई कर्म कारक छिपा हुआ होता है उसे कर्म तत्पुरुष समास कहते हैं कर्म कारक का चिन्ह “को” होता है जिसे विभक्ति चित भी बोला जाता है। 

इस प्रकार के समास को आप Tatpurush Samas भी बोल सकते हैं यह समास किसी प्रधान शब्द और उसके कर्म को दिशा प्रकट करने के लिए किया जाता है यह किसी वाक्य में कोई कार्य होने के बोध को दर्शाता है।

उदाहरण : मुंहतोड़ – मुंह को तोड़ने वाला

2. करण तत्पुरूष समास : पद का वह रूप जिसमें पहले पद में करण कारक का बोध हो, उसे करण तत्पुरुष समास कहते हैं। 

उदाहरण : भुखमरी – भूख से मरी

3. संप्रदान तत्पुरुष समास : संप्रदान ट्रस्ट पुरुष समाज में किसी भी प्रकार के चिन्ह के लिए के लिए जैसे शब्दों का उपयोग किया जाता है उसे सांप्रदायिक तत्पुरुष समास कहते हैं

उदाहरण डाकघर – डाक के लिए घर

4. अपादान शब्द तत्पुरुष समास : समास का वह रूप जिसमें अपादान कारक के चिन्ह “से” का उपयोग किया जाता है उसे अपादान तत्पुरुष समास कहते हैं 

उदाहरण : धनहीन – धन से हीन

5. संबंध तत्पुरुष समास : इस संबंध तत्पुरुष समास में विभक्ति चिन्ह के रूप में का के की का का उपयोग किया जाता है इस संबंध तत्पुरुष समास कहते हैं उदाहरण

उदाहरण : भारतरत्न – भारत का रतन

6. अधिकरण तत्पुरुष समास : इस समास के अंतर्गत विभक्ति चिन्ह के रूप में और पर शब्द का लोप होता है जिसे अधिकरण तत्पुरुष समास कहते हैं

उदाहरण : शहरवास – शहर में वास।

Examples Of Tatpurush Samas In Hindi – तत्पुरुष समास के उदाहरण

  • पत्र को बनाने वाला – पत्रकार
  • मूर्ति को बनाने वाला – मूर्तिकार
  • देश को धोखा देने वाला – देशद्रोही

Conclusion : जो छात्र Tatpurush Samas से जुड़ी हुई कोई जानकारी पाना चाहते हैं जैसे Tatpurush Samas Ki Paribhasha, Tatpurush Samas Ke Bhed, पहचान तो आप इस Tatpurush Samas In Hindi पेज की मदद से सभी जानकारी सरल शब्दों में पा सकते हैं, जो प्रतियोगी परीक्षा में उनके काम आ सकती है। 

FAQs About Tatpurush Samas In Hindi

Q1. तत्पुरुष समास क्या होते हैं ?

Ans : शब्द का वह रूप जिसमें उत्तर पद प्रधान होता है उसे तत्पुरुष समास कहते हैं। 

Q2. तत्पुरुष समास कितने प्रकार के होते हैं ?

Ans : तत्पुरुष समास छ प्रकार के होते हैं :

  • कर्म तत्पुरुष समास
  • करण तत्पुरुष समास
  • सम्प्रदान तत्पुरुष समास
  • अपादान तत्पुरुष समास
  • सम्बन्ध तत्पुरुष समास
  • अधिकरण तत्पुरुष समास

Q3. तत्पुरुष समास के उदाहरण बताइए ?

Ans : शराहत – शर से आहत

Leave a Comment