Pariman Vachak Visheshan Kise Kahate Hain – परिमाणवाचक विशेषण की परिभाष, भेद और उदाहरण  

Hindi Grammar

Pariman Vachak Visheshan In Hindi – क्या आप जानते हैं परिमाणवाचक विशेषण क्या होते हैं यदि नहीं तो आप इस Pariman Vachak Visheshan In Hindi पोस्ट को अंत तक पढ़ सकते हैं यहां पर आप जानेंगे Pariman Vachak Visheshan Kise Kahate Hain, Pariman Vachak Visheshan कितने प्रकार के होते हैं और उनके नियम, विशेषताएं क्या है। 

Definition Of Pariman Vachak Visheshan In Hindi – परिमाणवाचक विशेषण परिभाषा

संज्ञा, सर्वनाम के वह शब्द जिससे किसी वस्तु का नाप – तोल किया जाता है, उसकी मात्रा का पता लगाया जाता है उसे Pariman Vachak Visheshan कहते हैं। 

Pariman Vachak Visheshan में आपको किसी वस्तु का परिणाम का बोध कराया जाता है या किसी वस्तु की मात्रा का बोध कराया जाता है और जब यह मात्रा का बोध हो तो वह Pariman Vachak Visheshan कहलाता है

उदाहरण के लिए मुझे पीने के लिए थोड़ा पानी चाहिए, इस वाक्य में आप देख सकते हैं कि पानी की मात्रा का बोध हो रहा है “थोड़ा” यह परिमाण वाचक विशेषण के अंतर्गत आता है। 

Types Of Pariman Vachak Visheshan In Hindi – परिमाणवाचक विशेषण के भेद 

परिमाण वाचक विशेषण के दो भेद होते हैं :

  1. निश्चित परिमाण वाचक विशेषण
  2. अनिश्चित परिमाण वाचक विशेषण

निश्चित परिमाण वाचक विशेषण किसे कहते हैं ?

संज्ञा सर्वनाम के वह शब्द जिसमें किसी वस्तु का निश्चित रूप से नाप – तोल किया जाए या उसका मात्रा का बोध कराया जाए उसे निश्चित परिमाण वाचक विशेषण कहते हैं। 

इसे निश्चित परिमाण वाचक विशेषण में एक निश्चित मात्रा का बोध होता है इसलिए यह निश्चित Pariman Vachak Visheshan कहलाता है। 

उदाहरण के लिए :

  • मुझे गाय का 10 लीटर दूध चाहिए
  • मोहन को 1 किलो आलू और 3 किलो गाजर चाहिए
  • 1 दिन में 5 लीटर पानी पीना चाहिए
  • रोहित आज 2 लीटर पेट्रोल डलवा कर आया है
  • घर से मेरे लिए एक लीटर पानी ले आओ 

अनिश्चित परिमाण वाचक विशेषण किसे कहते हैं ?

जब किसी विशेषण में अनिश्चित परिणाम और मात्रा का बोध होता है तो उसे अनिश्चित परिमाण वाचक विशेषण कहते हैं, इसमें केवल वस्तु की मात्रा का अंदाजा लगाया जाता है इसलिए यह अनिश्चित परिमाण वाचक विशेषण कहलाता है। 

उदाहरण के लिए :

  • मुझे रात को पीने के लिए थोड़ा दूध चाहिए
  • मेरी जेब में कुछ ही पैसे पड़े हुए हैं
  • मोहन के घर पर बहुत सारे फूलों के गमले हैं
  • मेरे दादा के पास पहले बहुत सारे पैसे थे
  • मुझे गांव जाने से पहले कुछ कपड़े लेने हैं

Examples Of Pariman Vachak Visheshan In Hindi – परिमाणवाचक विशेषण के उदाहरण

  • बाजार जाकर ₹10 की चाय पत्ती लेकर आओ
  • मोहन की बकरी हर दिन 5 लीटर दूध देती है
  • मैं थोड़े समय के लिए शहर से बाहर जा रहा हूं
  • राम के पिता को हर महीने 20000 तन्खा मिलती है
  • राहुल घूमने के लिए बहुत दूर जाना जाता है
  • मुझे ऑफिस में बहुत सारा काम है

Conclusion : जब किसी हिंदी वाक्य में किसी वस्तु की नाप-तोल की बात की जाती है तो आप वहां से यह पहचान सकते हैं कि यहाँ पर Pariman Vachak Visheshan की बात हो रही है जो कि किसी मात्रा आदि का बोध करवा रही होती है। 

FAQs About Pariman Vachak Visheshan In Hindi

Q1. परिमाण वाचक विशेषण क्या होते हैं ?

Ans : संज्ञा सर्वनाम के वह विशेषण जिसमें किसी वस्तु की मात्रा का नाप तोल का बोध हो, उसे परिमाण वाचक विशेषण कहते हैं।  

Q2. परिमाण वाचक विशेषण कितने प्रकार के होते हैं ?

Ans : परिमाण वाचक विशेषण दो प्रकार के होते हैं

  • अनिश्चित परिमाण वाचक विशेषण
  • निश्चित परिमाण वाचक विशेषण

Q3. परिमाणवाचक विशेषण का उद्देश्य क्या होता है ?

Ans : परिमाण वाचक विशेषण का उद्देश्य किसी वाक्य में मौजूद वास्तु की मात्रा और नापतोल का बोध करवाना होता है। 

Leave a Comment