Bhav Vachak Sangya Kise Kahate Hain – भाववाचक संज्ञा की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Bhav Vachak Sangya In Hindi – आज हम यहां पर भाववाचक संज्ञा के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं जिन छात्रों को Bhav Vachak Sangya की परिभाषा नहीं पता और वह उनके बारे में पढ़ना चाहते हैं तो वह इस पोस्ट Bhav Vachak Sangya In Hindi को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़ सकते हैं। 

यहां पर बताया गया है Bhav Vachak Sangya Kise Kahate Hain, Bhav Vachak Sangya के कितने भेद होते हैं उदाहरण और स्पष्टीकरण के साथ यहां जानकारी दी गई है। 

Definition Of Bhav Vachak Sangya In Hindi – भाववाचक संज्ञा परिभाषा

संज्ञा के वह शब्द जो किसी व्यक्ति, जानवर की भावना अवस्था उसके गुण दोष के भाव का बोध करते हैं उन्हें Bhav Vachak Sangya कहते हैं इस भाववाचक संज्ञा में उस व्यक्ति वस्तु की दशा, उसकी अवस्था और उसकी विशेषता का पता चलता है भाववाचक संज्ञा की मदद से हिंदी वाक्य में उनके अर्थ और विचार को समझने में मदद मिलती है। 

जब हिंदी वाक्य में कहीं प्यार, दुख, आश्चर्य जैसी भावना प्रकट होती है तो वह भाववाचक संज्ञा कहलाते हैं उदाहरण के दिए “सचिन तेंदुलकर को पूरा देश प्यार करता है”

इस वाक्य में आप देख सकते हैं कि प्यार शब्द का उपयोग हुआ है इसमें सभी देशवासी फेमस सचिन तेंदुलकर क्रिकेटर को प्यार करते हैं वह अपने प्यार को व्यक्त कर रहे हैं जो Bhav Vachak Sangya के अंतर्गत आता है। 

Examples Of Bhav Vachak Sangya In Hindi – भाववाचक संज्ञा के उदाहरण

  • मैंने बचपन में बहुत गरीबी देखी है
  • कोयल की आवाज बहुत मीठी होती है
  • अध्यापक छात्रों पर गुस्सा कर रही है
  • राम सीता को प्यार करता है
  • दिवाली में पूरा शहर सुंदरता को प्रकट कर रहा है
  • मैं दौड़ कर आया हूं इसलिए थक गया हूं
  • दोस्ती सच्ची ही अच्छी लगती है
  • भारत में गरीबी रेखा लगातार बढ़ रही है

भाववाचक संज्ञा क्रिया शब्दों से

खीजनाखीज
ठहरनाठहराव
फैलनाफैलाव

भाववाचक संज्ञा, विशेषण शब्दों से

कुलीनकुलीनता
अधिकअधिकता
ग्राह्यग्राह्यता

भाववाचक संज्ञा, अवयव शब्दों से

देरदेरी
दूरदूरी
ऊपरऊपरी

Conclusion : Bhav Vachak Sangya व्यक्ति के भाव, अनुभाव को व्यक्त करते हैं और उपस्थितियों के बारे में जानकारी देते हैं, हिंदी व्याकरण में भाववाचक संज्ञा इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह हिंदी भाषा को और प्रभावशाली बनाते हैं। 

FAQs About Bhav Vachak Sangya In Hindi

Q1. भाववाचक संज्ञा क्या है ?

Ans : संज्ञा के वह शब्द जो किसी मानव, वस्तु की अवस्था, गुण, दोष और उसके भाव को प्रकट करे, उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं। 

Q2. भाववाचक संज्ञा का निर्माण कैसा होता है ?

Ans : भाववाचक संज्ञा का निर्माण क्रिया, विशेषण, अवयव और सर्वनाम प्रत्ययको जोड़कर भाववाचक संज्ञा का निर्माण होता है। 

Q3. भाववाचक की पहचान कैसे होती है ?

Ans : जिस हिंदी वाक्य में आश्चर्य, दुख ,प्यार, उत्साह, भलाई जैसे शब्द मौजूद होते हैं वह भाववाचक संज्ञा के अंतर्गत आता है। 

Leave a Comment