Punrukti Alankar Kise Kahate Hain – पुनरुक्ति अलंकार की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Punrukti Alankar In Hindi – जो किसी प्रतियोगी परीक्षा और कॉम्पिटेटिव एक्जाम की तैयारी में है उन्हें कई सारे विषयों को पढ़ना पड़ता है जिसमें से एक हिंदी व्याकरण है। हिंदी व्याकरण में एक महत्वपूर्ण टॉपिक है Alankar आज हम यहां पर Punrukti Alankar के बारे में बात करने वाले हैं Punrukti Alankar Kise Kahate Hain, Punrukti Alankar Kitne Prakar Ke Hote Hai, और उनके उदाहरण और पहचान क्या है। 

Definition Of Punrukti Alankar In Hindi – पुनरुक्ति अलंकार की परिभाषा

Punrukti Alankar का मतलब होता है शब्दों की बार-बार आवृत्ति होना। वह अलंकार जिसमे शब्दों की बार-बार आवृत्ति होती है लेकिन अर्थ एक समान नहीं होते, उन्हें Punrukti Alankar कहते हैं जब किसी काव्य या शब्द में एक ही शब्द को बार-बार दोहराया जाता है तो वह Punrukti Alankar कहलाता है। 

Examples Of Punrukti Alankar In Hindi – पुनरुक्ति अलंकार के उदाहरण

1.सुबह-सुबह बालक काम पर जा रहे हैं।

राम-छटा लखिकै सखियाँ!

2. रंग-रंग के फूलों पर सुन्दर।

3. थल-थल में बसता है भोले ही।

Conclusion : जब एक ही शब्द की बार-बार आवृत्ति हो और उसे दोहराई जाए लेकिन उनके अर्थ अलग-अलग होते हैं उन्हें Punrukti Alankar कहते हैं Punrukti Alankar की सरल परिभाषा उदाहरण सहित, पहचान यहां बताई गई है। 

FAQs About Punrukti Alankar In Hindi

Q1.पुनरुक्ति अलंकार का क्या अर्थ होता है ?

Ans : पुनरुक्ति अलंकार का अर्थ होता है पूर्ण से उक्ति यानी की बार-बार प्रकट होना। 

Q2. पुनरुक्तिअलंकार की पहचान क्या होती है ?

Ans : जब काव्य में एक ही शब्द बार-बार दोहराए जाते हैं लेकिन उनके अर्थ अभिन्न होते हैं वही है पुनरुक्ति अलंकार की पहचान है। 

Q3. पुनरुक्ति अलंकार के उदाहरण बताइए ?

Ans : लाख -लाख खेतों की मिर्दा का गुण धर्म। 

Leave a Comment