Manvikaran Alankar Kise Kahate Hain – मानवीकरण अलंकार की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Manvikaran Alankar In Hindi – आज हम इस “Manvikaran Alankar In Hindi” पेज के माध्यम से Manvikaran Alankar के बारे में विस्तार से पढ़ने वाले हैं Manvikaran Alankar Kise Kahate Hain,  Manvikaran Alankar Kitne Prakar Ke Hote Hai,

और Manvikaran Alankar के उदाहरण क्या है। बहुत से स्कूल में पढ़ने वाले छात्र आगे चलकर अलंकार परिभाषा, भेद आदि भूल जाते हैं वह दोबारा रिवीजन करने के लिए हमारे इस पेज को फॉलो कर सकते हैं और Manvikaran Alankar के बारे में पूरी जानकारी सरल भाषा में जान सकते हैं। 

Definition Of Manvikaran Alankar In Hindi – मानवीकरण अलंकार की परिभाषा

वह अलंकार जहां पर कोई प्राकृतिक की चीज जो मानव के जैसे बर्ताव करें तो उसे मानवीकरण अलंकार कहते हैं अर्थात सरल शब्दों में हम कह सकते हैं कि प्राकृतिक के पदार्थ जैसे पानी, पेड़, पौधे, नदी यदि मानव की तरह क्रिया करने का आरोप रहता है तो वह मानवीकरण अलंकार कहलाते हैं। 

ऐसे अलंकार पर मानव जैसे बेहवार करने का आरोप लगाया जाता है। 

Examples Of Manvikaran Alankar In Hindi – मानवीकरण अलंकार के उदाहरण

1.ऊषा उदास आती है। मुँह पीला ले जाती है॥

2. गेंदा खिल कर बोला-मैं आग का गोला नहीं प्रीत की कविता हूं।

3. जगकर सजकर रजनीबाले।

Conclusion : हिंदी व्याकरण में अलंकार एक ऐसा विषय है जो रचनाओं को प्रभावशाली और बदलाव करने के लिए उपयोग में ली जाती है मानवीकरण अलंकार उनमें से एक है जो रचनाओं को अलग तरीके से पेश करने में मददगार होते हैं Manvikaran Alankar से जुड़ी सभी जानकारी आप यहां से पढ़ सकते हैं। 

FAQs About Manvikaran Alankar In Hindi

Q1. मानवीकरण अलंकार क्या होते हैं ?

Ans : जहां काव्य चेतन को प्रकृति पदार्थ संबंध के साथ मनुष्य के व्यवहार को जोड़ा जाता है। 

Q2. मानवीकरण अलंकार की पहचान क्या होती है

Ans : जब किसी प्राकृतिक पदार्थ पर मानव क्रिया का आरोप जाये, वह मानवीकरण अलंकार कहलाते हैं

Q3. मानवीकरण अलंकार के उदाहरण बताइए

Ans : मेघ आए बड़े बन-ठन के संवर के। ।

Leave a Comment