Krit Vachya Kise Kahate Hain – कर्तृवाच्य की परिभाषा, भेद और उदाहरण

Hindi Grammar

Krit Vachya In Hindi – जो लोग हिंदी व्याकरण के बारे में सरल भाषा में जानकारी पाना चाहते हैं उनके लिए यह सबसे अच्छा सोर्स हो सकता है इस पेज पर हमने Krit Vachya विषय के ऊपर सभी जानकारी आसान भाषा में दी है Krit Vachya In Hindi पेज पर आपको जानने को मिलेगा Krit Vachya Kise Kahate Hain, Krit Vachya Ke Prakar Or Udaharan क्या हैं

Krit Vachya Kise Kahate Hain – कर्तृवाच्य की परिभाषा

यह कर्तृवाच्य का वह रूप होता है जिसमें कर्ता की प्रधानता का बोध होता है उसे ही Krit Vachya कहा जाता है Krit Vachya में सकर्मक क्रिया और अकर्मक क्रिया दोनों ही शामिल होती है जिसे Krit Vachya कहते हैं।

Krit Vachya Examples – कर्तृवाच्य के उदाहरण

  • सीता स्कूल जाती है
  • राम गाना गाता है
  • रमेश पढ़ाई करता है
  • अर्पित स्कूल जाता है

कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य

  • रमेश ने सुंदर कविता लिखी हैं
    रमेश द्वारा सुंदर कविता लिखी गयी हैं
  • वह रात में सब्जी खाता है।
    उससे रात में सब्जी खायी जाती है
  • तुम फल तोड़ोगे
    उससे द्वारा फल तोड़े जाएंगे
  • पुलिस ने चोर को पकड़ा
    पुलिस द्वारा चोर पकड़ा गया

Conclusion Krit Vachya पेज पर हमने कर्तृवाच्य के बारे में सभी जानकारी जैसे Krit Vachya Kise Kahate Hain, Krit Vachya कितने प्रकार के होते हैं और उनके उदाहरण सहित जानकारी प्रोवाइड की है जो विद्यार्थियों के लिए बहुत मददगार हो सकती है।

FAQs About Krit Vachya Kise Kahate Hain

Q1. कर्तृवाच्य से आप क्या समझते हैं?
Ans : कर्तृवाच्य वाक्य में कर्ता की प्रधानता का बोध होता है उन्हें कर्तृवाच्य कहते हैं, जैसे राम स्कूल जाता है।

Q2. कर्तृवाच्य के उदाहरण बताइये ?
Ans : मैंने गीता पढ़ी, महेश रोटी खाता है, राम गाना गाता है।

Q3. कर्तृवाच्य कौन सी क्रिया है ?
Ans : कर्तृवाच्य सकर्मक और अकर्मक दोनों क्रिया है।

Leave a Comment