Shravya Kavya Kise Kahate Hain – श्रव्य काव्य की परिभाषा, भेद और उदाहरण 

Hindi Grammar

Shravya Kavya In Hindi – काव्यशास्त्र में Shravya Kavya एक जरूरी अंग है जिसके बारे में आज हम इस Shravya Kavya In Hindi पेज पर बात करने वाले हैं, जिन लोगों ने काव्यशास्त्र के बारे में पढ़ा होगा उन्होंने सुनने योग्य काव्य, देखने योग्य काव्य पढ़ा है। Shravya Kavya एक ऐसा काव्य है जो केवल सुनने योग्य में आता है। 

चलिए जानते हैं Shravya Kavya Kise Kahate Hain, Shravya Kavya प्रकार के होते हैं और उनके विशेषताएं क्या है। 

Definition Of Shravya Kavya In Hindi – श्रव्य काव्य की परिभाषा

Shravya Kavya में श्रोता रचना का आनंद सुनकर लेता है वह रंग मंच पर उसे देख नहीं सकता जो सुनने से से उसके अंदर आनंद के भाव उत्पन्न होते हैं उसे Shravya Kavya कहते हैं। Shravya Kavya को सुनने योग्य काव्य भी कहा जाता है क्योंकि इसमें आनंद केवल सुनकर लिया जाता है

Types Of Shravya Kavya In Hindi – श्रव्य काव्य के भेद 

श्रव्य काव्य दो भेद होते हैं :

  • प्रबंध काव्य
  • मुक्तक काव्य

प्रबंध काव्य

प्रबंध काव्य में किसी भी प्रकार की प्रमुख कथा एक क्रमबद्ध रूप में चलती है और इस चलते हुए क्रमबद्ध में कथा का क्रम नहीं टूटता है इसे प्रबंध काव्य कहते हैं। 

प्रबंध काव्य के उदाहरण

रामचरित मानस

प्रबंध काव्य के भेद

  • प्रबंध काव्य के भेद
  • महाकाव्य
  • खण्डकाव्य
  • आख्यानक गीतियाँ

मुक्तक काव्य

मुक्तक काव्य एक ऐसा काव्य होता है जिसमें महाकाव्य’ तथा ‘खण्डकाव्य एक दूसरे से भिन्न होते हैं 

इससे मुक्तक काव्य में अनुभूति और भाव कल्पना आदि का चित्रण होता है जिसे मुक्तक काव्य कहते हैं

मुक्तक काव्य के उदाहरण

  • कबीर के दोहे
  • बिहारी के दोहे
  • रहीम के दोहे
  • सूर के पद

मुक्तक काव्य के भेद 

  1. पाठ्य-मुक्तक काव्य
  2. गेय-मुक्तक काव्य

Conclusion : Shravya Kavya सुनने योग्य होता है जिसका आनंद श्रोता सुनकर उठाता है Shravya Kavya को श्रोता रंगमंच पर नहीं देखता, उसे सुनकर आनंद वाले भाव की अनुभूति होती है जिसे Shravya Kavya कहा गया है। 

FAQs About Shravya Kavya In Hindi

Q1. श्रव्य काव्य क्या होते हैं ?

Ans : वह काव्य जिसमें श्रोता आनंद सुनकर लेता है उसे श्रव्य काव्य कहते हैं

Q2. श्रव्य काव्य कितने प्रकार के होते हैं ?

Ans : श्रव्य काव्य दो प्रकार के होते हैं – प्रबंध काव्य और मुक्तक काव्य

Q3. मुक्तक काव्य के कितने प्रकार के होते हैं ?

Ans : मुक्तक काव्य प्रकार के होते हैं पाठ्य-मुक्तक काव्य और गेय-मुक्तक काव्य

Leave a Comment